तिङन्तावली ?भ्रक्ष्

Roma

अप्रत्ययान्तधातु

लट्

परस्मैपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्षति भ्रक्षतः भ्रक्षन्ति
मध्यमभ्रक्षसि भ्रक्षथः भ्रक्षथ
उत्तमभ्रक्षामि भ्रक्षावः भ्रक्षामः


आत्मनेपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्षते भ्रक्षेते भ्रक्षन्ते
मध्यमभ्रक्षसे भ्रक्षेथे भ्रक्षध्वे
उत्तमभ्रक्षे भ्रक्षावहे भ्रक्षामहे


कर्मणिएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्ष्यते भ्रक्ष्येते भ्रक्ष्यन्ते
मध्यमभ्रक्ष्यसे भ्रक्ष्येथे भ्रक्ष्यध्वे
उत्तमभ्रक्ष्ये भ्रक्ष्यावहे भ्रक्ष्यामहे


लङ्

परस्मैपदेएकद्विबहु
प्रथमअभ्रक्षत् अभ्रक्षताम् अभ्रक्षन्
मध्यमअभ्रक्षः अभ्रक्षतम् अभ्रक्षत
उत्तमअभ्रक्षम् अभ्रक्षाव अभ्रक्षाम


आत्मनेपदेएकद्विबहु
प्रथमअभ्रक्षत अभ्रक्षेताम् अभ्रक्षन्त
मध्यमअभ्रक्षथाः अभ्रक्षेथाम् अभ्रक्षध्वम्
उत्तमअभ्रक्षे अभ्रक्षावहि अभ्रक्षामहि


कर्मणिएकद्विबहु
प्रथमअभ्रक्ष्यत अभ्रक्ष्येताम् अभ्रक्ष्यन्त
मध्यमअभ्रक्ष्यथाः अभ्रक्ष्येथाम् अभ्रक्ष्यध्वम्
उत्तमअभ्रक्ष्ये अभ्रक्ष्यावहि अभ्रक्ष्यामहि


विधिलिङ्

परस्मैपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्षेत् भ्रक्षेताम् भ्रक्षेयुः
मध्यमभ्रक्षेः भ्रक्षेतम् भ्रक्षेत
उत्तमभ्रक्षेयम् भ्रक्षेव भ्रक्षेम


आत्मनेपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्षेत भ्रक्षेयाताम् भ्रक्षेरन्
मध्यमभ्रक्षेथाः भ्रक्षेयाथाम् भ्रक्षेध्वम्
उत्तमभ्रक्षेय भ्रक्षेवहि भ्रक्षेमहि


कर्मणिएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्ष्येत भ्रक्ष्येयाताम् भ्रक्ष्येरन्
मध्यमभ्रक्ष्येथाः भ्रक्ष्येयाथाम् भ्रक्ष्येध्वम्
उत्तमभ्रक्ष्येय भ्रक्ष्येवहि भ्रक्ष्येमहि


लोट्

परस्मैपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्षतु भ्रक्षताम् भ्रक्षन्तु
मध्यमभ्रक्ष भ्रक्षतम् भ्रक्षत
उत्तमभ्रक्षाणि भ्रक्षाव भ्रक्षाम


आत्मनेपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्षताम् भ्रक्षेताम् भ्रक्षन्ताम्
मध्यमभ्रक्षस्व भ्रक्षेथाम् भ्रक्षध्वम्
उत्तमभ्रक्षै भ्रक्षावहै भ्रक्षामहै


कर्मणिएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्ष्यताम् भ्रक्ष्येताम् भ्रक्ष्यन्ताम्
मध्यमभ्रक्ष्यस्व भ्रक्ष्येथाम् भ्रक्ष्यध्वम्
उत्तमभ्रक्ष्यै भ्रक्ष्यावहै भ्रक्ष्यामहै


लृट्

परस्मैपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्षिष्यति भ्रक्षिष्यतः भ्रक्षिष्यन्ति
मध्यमभ्रक्षिष्यसि भ्रक्षिष्यथः भ्रक्षिष्यथ
उत्तमभ्रक्षिष्यामि भ्रक्षिष्यावः भ्रक्षिष्यामः


आत्मनेपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्षिष्यते भ्रक्षिष्येते भ्रक्षिष्यन्ते
मध्यमभ्रक्षिष्यसे भ्रक्षिष्येथे भ्रक्षिष्यध्वे
उत्तमभ्रक्षिष्ये भ्रक्षिष्यावहे भ्रक्षिष्यामहे


लुट्

परस्मैपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्षिता भ्रक्षितारौ भ्रक्षितारः
मध्यमभ्रक्षितासि भ्रक्षितास्थः भ्रक्षितास्थ
उत्तमभ्रक्षितास्मि भ्रक्षितास्वः भ्रक्षितास्मः


लिट्

परस्मैपदेएकद्विबहु
प्रथमबभ्रक्ष बभ्रक्षतुः बभ्रक्षुः
मध्यमबभ्रक्षिथ बभ्रक्षथुः बभ्रक्ष
उत्तमबभ्रक्ष बभ्रक्षिव बभ्रक्षिम


आत्मनेपदेएकद्विबहु
प्रथमबभ्रक्षे बभ्रक्षाते बभ्रक्षिरे
मध्यमबभ्रक्षिषे बभ्रक्षाथे बभ्रक्षिध्वे
उत्तमबभ्रक्षे बभ्रक्षिवहे बभ्रक्षिमहे


आशीर्लिङ्

परस्मैपदेएकद्विबहु
प्रथमभ्रक्ष्यात् भ्रक्ष्यास्ताम् भ्रक्ष्यासुः
मध्यमभ्रक्ष्याः भ्रक्ष्यास्तम् भ्रक्ष्यास्त
उत्तमभ्रक्ष्यासम् भ्रक्ष्यास्व भ्रक्ष्यास्म

कृदन्त

क्त
भ्रक्षित m. n. भ्रक्षिता f.

क्तवतु
भ्रक्षितवत् m. n. भ्रक्षितवती f.

शतृ
भ्रक्षत् m. n. भ्रक्षन्ती f.

शानच्
भ्रक्षमाण m. n. भ्रक्षमाणा f.

शानच् कर्मणि
भ्रक्ष्यमाण m. n. भ्रक्ष्यमाणा f.

लुडादेश पर
भ्रक्षिष्यत् m. n. भ्रक्षिष्यन्ती f.

लुडादेश आत्म
भ्रक्षिष्यमाण m. n. भ्रक्षिष्यमाणा f.

तव्य
भ्रक्षितव्य m. n. भ्रक्षितव्या f.

यत्
भ्रक्ष्य m. n. भ्रक्ष्या f.

अनीयर्
भ्रक्षणीय m. n. भ्रक्षणीया f.

लिडादेश पर
बभ्रक्ष्वस् m. n. बभ्रक्षुषी f.

लिडादेश आत्म
बभ्रक्षाण m. n. बभ्रक्षाणा f.

अव्यय

तुमुन्
भ्रक्षितुम्

क्त्वा
भ्रक्षित्वा

ल्यप्
॰भ्रक्ष्य

Le chameau Ocaml
Top | Index | Grammar | Sandhi | Reader | Corpus
© Gérard Huet 1994-2022
Logo Inria